सबसे नए तीन पन्ने :

Tuesday, August 3, 2010

किशोर कुमार जी का गाया एक भूला-बिसरा गीत

वर्ष 1973 के आसपास एक फिल्म रिलीज हुई थी - इन्तेजार

इस फिल्म के नायक राकेश पाण्डेय हैं जिनकी बतौर नायक यह शायद पहली फिल्म हैं। बाद में वह चरित्र भूमिकाएं और धारिवाहिको में भी नजर आने लगे। इस फिल्म की नायिका हैं रिंकू जायसवाल जिसने शायद एकाध फिल्म ही की।

यह फिल्म बिलकुल भी नही चली पर इसके गाने रेडियो से बहुत बजा करते थे। खासकर किशोर कुमार का गाया गीत जिसके बोल मुझे याद नही आ रहे हैं।

पता नहीं विविध भारती की पोटली से कब बाहर आएगा यह गीत…

5 comments:

જીવન ના િવિવધ રંગો said...

Annapurna Ji Aapka Jo Soch Rahi Hai Woh Ye song To Nahi hai

Chanda Ki Kirano Lipti Hawaye Aake Mil Ja.

Ye You Tube Par Bhi Hai

http://www.youtube.com/watch?v=LFjIN3P4j3E

Mere Paas Hai Iska MP3.

Atul

annapurna said...

शुक्रिया अतुल जी !

अब मुझे याद आ गया -

चन्दा की किरणों से लिपटी हवाएं
सितारों की महफ़िल जवां
आ के मिल जा
ऐसा मौसम मिले फिर कहाँ आ के मिल जा

శివ said...

I am Sivaramaprasad Kappagantu from Bangalore. My mother tongue is Telugu. I have come across your blog and I find it amazing and quite interesting. I am also a Radio Programmes fan and I have been listening Radio since my 7th or 8 the year in 1964-65 onwards. My favourite Radio Station is AIR, Vijayawada.

Seeing your excellent blog, I wrote about it in my Telugu Blog which you can see by clicking on the following link:

http://saahitya-abhimaani.blogspot.com/

I am imploring our Telugu Bloggers to come together, atleast 2 or 3, to write about Telugu Programmes in 2 major Radio Stations in Andhra Pradesh ie. in Vijayawada and Hyderabad and two small Stations in Visakhapatnam and Cuddapah.

I very much request you how you are able to come together and create such a great blog of Radio Lovers. Please let me know how this great event took place, so that I can write about the same in my Telugu Blog to inspire our Telugu Bloggers to follow your great example.

శివ said...

नमश्कार। आप सबको बहुत बहुत सुभकाम्नायायेम। मेरा हिंदी इतना अच्चा नहीं हैं। गलिती लिखेतो क्षमा करना। में हिंदी में लिखना बहुत काम काज करके लिखना पड़ता हैं । इसीलिये मैं अम्ग्रेजीमे लिखा मेरे कामेम्त। प्रार्धा करताहू की आप मेरेलिए एक जवाब दीजिये। मेरे इ मेल नीचे दियाहुवाहाई:

vu3ktb@gmail.com

annapurna said...

शिवा जी, आप रेडियोनामा को मेल भेजिए

Post a Comment

आपकी टिप्पणी के लिये धन्यवाद।

अपनी राय दें