सबसे नए तीन पन्ने :

Tuesday, March 3, 2009

महिला दिवस पर याद आ रहा है यह गीत

महिला दिवस आ रहा है। यूँ तो महिलाओं के विभिन्न रूपों पर कई फ़िल्मी गीत है जो रेडियो से हम सुनते रहते है पर आज जिस गीत की हम चर्चा कर रहे है वो महिला की वास्तविक स्थिति बताता है ख़ासकर उसकी बरसों पहले की स्थिति।

यह गीत शायद औरत फ़िल्म का है जिसमें मुख़्य भूमिकाओं में थे राजेश खन्ना और पद्मिनी। यह फ़िल्म सत्तर के दशक के शुरूवाती सालों की है शायद… पद्मिनी वही दक्षिण भारतीय अभिनेत्री है जिसने राजकपूर के साथ मेरा नाम जोकर में काम किया था।

इस गीत को गाया है लता मंगेशकर ने। इसके अलावा और कोई जानकारी मेरे पास नहीं है। होगी भी कैसे, किसी समय रेडियो से बहुत बजने वाला यह गीत अब बजना बन्द जो हो गया है। कुछ बोल मुझे याद है जो इस तरह है -

औरत ने जन्म दिया मर्दों को
मर्दों ने उसे बाज़ार दिया
जब जी चाहा मसला कुचला
जब जी चाहा दुत्कार दिया
औरत ने जन्म दिया मर्दों को

तुलती है कहीं दीनारों में
बिकती है कहीं बाज़ारों में
नंगी नचवाई जाती है
अय्याशों के दरबारों में
-----------

------------
जिस कोख में इनका जिस्म ढला
उस कोख का कारोबार किया

मर्दो के लिए …
औरत के लिए जीना भी गुनाह

इसमें उर्दू लफ़्ज़ बहुत है, पता नहीं किस शायर ने लिखे है।

पता नहीं विविध भारती की पोटली से कब बाहर आएगा यह गीत…

9 comments:

अल्पना वर्मा said...

lijeeye is geet ke bare mein jaankari--
-Film: Sadhna [1958]
-Singer: Lata Mangeshkar
-Lyrics: Abdul Hayee Sahir Ludhiyanvi

-Music Director: N. Datta
-yah gana padmini par nahin Famous Actress..Vaijantimala par filmaya gaya tha...
She also received a Filmfare nomination as Best Actress for portraying in this film Sadhana a tawaif (a courtesan) who eventually got rehabilitated in the society.-dhnywaad...

अल्पना वर्मा said...

aap ne jo jaankari apni post mein film--ka naam aur cast--even year of release --di hai wah wrong hai..
Meri di hui jaankari se kripya correct kar len.

anitakumar said...

ये गीत मेरा भी पसंदीदा गीत है , अल्पना जी जानकारी के लिए शुक्रिया

annapurna said...

शुक्रिया अल्पना जी अनीता जी !

मैनें अपने चिट्ठे में लिखा है - शायद यह गीत औरत फ़िल्म का है और जानकारी मैनें औरत फ़िल्म की दी। मैनें पहले ही बता दिया कि इस गीत्त के बारे में मुझे ठीक से जानकारी नहीं है।

जानकारी देने का शुक्रिया। मैं इसे ठीक नहीं करूँगी। यह जानकारी आप के ही नाम से टिप्पणी मे रहे तो अच्छा है।

yunus said...

ये गीत लता जी का नहीं है बल्कि आशा भोसले का है । शेष जानकारियां तो अल्‍पना जी ने दे ही दी हैं ।

PIYUSH MEHTA-SURAT said...

युनूसजी, यह गीत लताजी का ही है ।
पियुष महेता-सुरत

अल्पना वर्मा said...

युनूसजी, यह गीत लताजी का ही है ।
१००%

yahan is gane ki clip ko dekh saktey hain-
http://get2pc.com/watch?v=K2ZGsC5Y0OQ

yahan suneeye--
http://ww.smashits.com/tsearch/music/song/aurat-ne-janam-diya-mardon-ko.html

अल्पना वर्मा said...

Annpurna ji aap ki yah post yahan is blog par main ne abhi dekhi- ek dusre blog par -magar aap ka naam nahin dekha..is liye aap ko inform kar rahi hun.
-aaj post hui hai..kya aap janti hain??

http://ujjas.blogspot.com/2009/03/blog-post_04.html

annapurna said...

अल्पना जी, मैनें देखा है। अंत में रेडियोनामा लिखा है इसीलिए मैं चुप रह गई।

Post a Comment

आपकी टिप्पणी के लिये धन्यवाद।

अपनी राय दें