सबसे नए तीन पन्ने :

Tuesday, September 15, 2009

15 सितम्बर, अभिनेता-निर्देषक श्री क्रिष्नकान्तजी को जन्मदिन की बधाई ।

प्रति-पत्रावलि,



आज वरिष्ठ चरित्र-अभिनेता तथा तीसरा किनारा जैसी फिल्मों के निर्देषक श्री क्रिष्नकान्तजी जन्म तारीख है । उनका जन्म हाव्ररा -कल्कत्तामें 15 सितम्बर, 1922 के दिन हुआ था । बादमें उनकी पढाई सुरतमें और ध्वनि अभियंता बनने के लिये वीजेटीआई मुम्बई में पूरी की थी । बादमें साउन्ड इंजिनीयर के रूपमें फिल्मोंमें प्रवेश लिया । फ़िर स्व. नितीन बोझ को जब निर्देषन के लिये मुम्बई आमंत्रीत किया गया, तब बान्गला भाषा की जानकारी के कारण उनके एक सहायक के रूपमें लिये गये । और अभिनेता के रूपमें भी शुरूआत हो गयी । पर अपने दिख़ावे के कारण वे जवानीमें ही मूख़्य अभिनेत्री के पिता बन गये । फिल्म पतितामें उषा किरणजीके लकवा-ग्रस्त अपाहीज़ पिता के रूपमें बहोत शोहरत हांसील हुई । फिल्म डिटेक्टीवमें दोहरी भूमिका की, जिसमें एक बूरे इंसान की थी । फ़िल्म जागते रहोमें भी देसी दारू के गुन्हेगार व्यापारी की भूमिका निभाई । फिल्म शेरू का गाना ओ ओ माटी के पुतले और फिल्म पोस्ट बोक्ष नं 999 का गाना जोगी आया ले के संदेशा भगवान का, इन दोनों गाने उन पर चित्रीत हुए थे । काश विविध भारती भूले बिसरे गीत या सदा बहार गीत में से एक कार्यक्रममें उनको याद करके इन दोनों या एक गाने को स्थान आज के दिन देती ! जैसे एक विदेशी हिन्दी रेडियो चेनलने किया । नाम दे पाता पर शायद विविध भारती को नाम देना पसंद नहीं आता । शायद विविध भारती को इस मंच से मेरा उनको याद करना भी जचेगा या नहीं ? कई सालोंसे इस बातको मं पहेले से याद कराता था । पर निराशा के सिवा कम से कम कुछ मामले में तो हांसिल नहीं होता, जिसमें यह मामला भी एक है । आप इस मंचसे आने वाले विज्ञापन के बारेमें जब पत्रावलि या मेईल से कहते है , वह शत-प्रतिशत सही है पर, लोगोको कोई असर नहीं होता । मेरी इस टिपणी के पूर्व पूरा पन्ना अब सीधी नहीं पर लिन्क्स के रूप में भूतिया श्रोता लोग द्वारा की गयी वही बात है । हाँ, रेडियो कार्यक्रम की समीक्षा वाले ब्लोग की बात या लिन्क देते है तो उसमें कोई व्यापार नहीं है । इस लिख़ाई को मैनें सीधे विविध भारती की वेब साईट की गेस्ट बूकमें रख़ने की कोशिश की थी पर रिजेक्ट हुई ।और यहाँ यह भी स्पस्ट करता हूँ कि वह पाडोशी रेडियो चेनल रेडियो श्री लंका -हिन्दी सेवा है और मेरी सुचना के आधार पर मेरे नाम के साथ प्रसारित हुआ था , श्री क्रिष्नकान्तजी को बधाई संदेश । श्रीमती अन्नपूर्णाजी से आज के दिन उनकी पोस्ट के तूर्त बाद ही मेरी इस पोस्ट को रख़ने के लिये माफ़ी की अपेक्षा है । पर दिन और तारीख़ के औचिन्त्य के लिये यह ज्रूरी हो गया ।

पियुष महेता ।

नानपूरा, सुरत ।

SURAT

1 comment:

likho apna vichar said...

श्री क्रिष्नकान्तजी जन्म तारीख है ।
उनका जन्म हाव्ररा -कल्कत्तामें 15 सितम्बर, "2022" के दिन हुआ था ??????
main jaanta hoon kuch ghalat hai yahan , shayad ye 1922 hoga

Post a Comment

आपकी टिप्पणी के लिये धन्यवाद।

अपनी राय दें