There was an error in this gadget

Wednesday, March 16, 2011

कुदरत फिल्म की गजल

सत्तर के दशक की मल्टीस्टार फिल्म हैं - कुदरत

इस फिल्म से किशोर कुमार का गाया गीत हमें तुमसे प्यार कितना अक्सर सुनवाया जाता हैं पर इस फिल्म में लताजी की गाई एक गजल भी हैं जिसे प्रिया राजवंश पर फिल्माया गया हैं। इसके बोल मुझे याद नही आ रहे। बहुत समय हो गया रेडियो से नही सुनी यह गजल।

पता नहीं विविध भारती की पोटली से कब बाहर आएगा यह गीत…

2 comments:

प्रकाश गोविन्द said...

भाई साहब कृपया अपनी जानकारी हल्की सी दुरुस्त कर लें ... मुझे फ़िल्म - कुदरत का वो गाना अच्छी तरह याद है ! यह ग़ज़ल प्रिय राजवंश के ऊपर फिल्माया गया था लेकिन इस ग़ज़ल को लता जी ने नहीं बल्कि आशा भोंसले जी ने गाया था !

सजती है यूँ ही महफ़िल रंग यूँ ही ढलने दो
एक चिराग बुझने दो एक चिराग जलने दो

अगर आपको इस गाने का वीडिओ अथवा एम पी थ्री चाहिए तो बताएं

annapurna said...

जानकारी के लिए शुक्रिया !

Post a Comment

आपकी टिप्पणी के लिये धन्यवाद।

अपनी राय दें