सबसे नए तीन पन्ने :

Saturday, October 3, 2009

विविध भारती को सालगिरह मुबारक

मुझसे दो साल बड़ी विविध भारती की आज साल गिरह है । श्रोताओं और मुरीदों की ओर से विविध भारती परिवार को हार्दिक शुभ कामना |चिट्ठालोक और विविध भारती की सम्पर्क कड़ी युनुस ख़ान को विशेष शुभ कामना । तकनीकी रूप से विविध भारती तरक्की करे । कम-से-कम उसके एफ़ एम स्टेशनों से स्टीरियो-प्रभाव वाला प्रसारण हो ।
इस अवसर पर प्रस्तुत हैं मोहम्मद रफ़ी के ऐसे गीत जिन्हें विविध भारती ने सदाबहार बनाया है ।

No comments:

Post a Comment

आपकी टिप्पणी के लिये धन्यवाद।

Post a Comment

अपनी राय दें