सबसे नए तीन पन्ने :

Sunday, May 4, 2008

'शेष' पत्रिका के संपादक और नामचीन कथाकार हसन जमाल से बातचीत आज शाम साढ़े चार बजे विविध भारती पर

रेडियोनामा पर आज फिर मैं एक कार्यक्रम की सूचना देने के लिए आया हूं । दरअसल पहले ये सोचा था कि तरंग पर अपनी जैसलमेर जोधपुर यात्रा के ब्‍यौरे में ही हसन जमाल से हुई मुलाक़ात और अपने अनुभवों को विस्‍तार दूंगा लेकिन इतर व्‍यस्‍ताताओं की वजह से जैसलमेर यात्रा वाला चिट्ठा अटका पड़ा है ।

बहरहाल आज यूथ एक्‍सप्रेस कार्यक्रम में शाम चार बजे सुनिए प्रसिद्ध कहानीकार और 'शेष' पत्रिका के संपादक 'हसन जमाल' से यूनुस खान की बातचीत ।

अगर समय कम हो तो ये बता दूं कि ठीक साढ़े चार बजे के आसपास ये बातचीत शुरू होगी और तकरीबन 22 मि0 चलेगी ।

हसन भाई बहुत कम बोलते हैं और उनसे बातें उगलवाना मुश्किल है ।

लेकिन इस इंटरव्‍यू में शायद पहली बार उन्‍होंने अपने बारे में इतना कुछ कहा है ।

कोशिश रहेगी कि बाद में इसकी ऑडियो फाइल अपलोड की जाए ।

फिलहाल हसन साहब के साथ ये तस्‍वीर देख डालिये ।

हम चलते हैं । पर ये खबर दिये बिना कैसे जायें कि जल्‍दी ही कथादेश में यायावर की डायरी लिखने वाले 'सत्‍यनारायण' जी का इंटरव्‍यू भी यूथ एक्‍सप्रेस में आयेगा । फिर पंकज बिष्‍ट, गिरिराज किशोर, प्रहलाद अग्रवाल, आलोक पुराणिक, ज्ञान चतुर्वेदी, बालकवि बैरागी, राहत इंदौरी सभी के इंटरव्‍यू लाइन अप हैं ।

तो ज़रा रेडियोनामा पर इंतज़ार कीजिएगा आगे के इंटरव्‍यूज़ के लिए ।

हसन जमाल से बातचीत आज शाम साढ़े चार बजे के आसपास विविध भारती पर ।

चित्र में बाईं ओर कमल शर्मा । बीच में हसन जमाल । और दाहिनी ओर हम हशमत । सर्दियों के दिन थे जनाब वरना हम क्‍या येड़े हैं जो कोट शोट में नज़र आएं ।

IMG_1427

3 comments:

डॉ. अजीत कुमार said...

यूँ तो यूथ एक्सप्रेस हम सुनते ही, आप ना बताते तो भी.
पर चलिये आप भी क्या याद करेंगे, आप कहें और हम बिना सुने निकल जायें.;)

Raviratlami said...

चूंकि यह एक साहित्यकार से खास बातचीत थी, अतः इस वार्तालाप की रेकॉर्डिंग रचनाकार पर यहां प्रकाशित की गई है -
http://rachanakar.blogspot.com/2008/05/blog-post_2229.html
सुनें व प्रतिक्रिया दें.

अनूप शुक्ल said...

बहुत् अच्छी बातचीत रही। शुक्रिया आपका।

Post a Comment

आपकी टिप्पणी के लिये धन्यवाद।

अपनी राय दें