सबसे नए तीन पन्ने :

Sunday, May 18, 2008

कथादेश के लोकप्रिय स्‍तंभ 'यायावर की डायरी' वाले सत्‍यनारायण जी से बातचीत सुनिए आज विविध भारती पर

रेडियोनामा पर मैं अकसर अपनी जोधपुर जैसलमेर यात्रा का ब्‍यौरा देता रहा हूं । और वहां रिकॉर्ड किये गये महत्‍त्‍वपूर्ण इंटरव्‍यूज़ के प्रसारण की ख़बरें भी देता रहा हूं ।

लंबे समय तक कथादेश पढ़ते आ रहे लोग जानते होंगे कि सत्‍यनारायण हिंदी के यायावर लेखक हैं । लगभग आखिरी पन्‍नों पर छपने वाला उनका कॉलम 'यायावर की डायरी' अपने अनूठे अनुभव-जगत की वजह से बेहद लोकप्रिय रहा है ।

दिलचस्‍प बात ये है कि सत्‍यनारायण अपने अनुभव जगत का पिटारा तो अकसर खोलते हैं । पर खुद सत्‍यनारायण के बारे में हमें बहुत सारी बातें नहीं पता । मसलन वो कहां के रहने वाले हैं । उन्‍होंने लिखना-पढ़ना कैसे शुरू किया । वग़ैरह । और जब विविध भारती की टोली जोधपुर जैसलमेर की यात्रा पर गई, तो अचानक ही हमने सत्‍यनारायण जी को इंटरव्‍यू का निमंत्रण भेजा । उनका नंबर हसन जमाल से प्राप्‍त किया गया । और फिर थोड़ी ना नकुर तथा संकोच के बाद वो राज़ी हो गये बातचीत के लिए । मुझे पहले ही जोधपुर निवासियों ने ताकीद कर दी थी कि सत्‍यनारायण जी बहुत कम बोलते हैं । सावधान रहना ।

लेकिन सत्‍यनारायण खुले और खुलकर बोले । उनका अनूठा अनुभव जगत खुला और उनके जीवन के कुछ अनछुए तथ्‍य उजागर हुए ।

इस इंटरव्‍यू को आज शाम चार से पांच बजे के बीच आप यूथ एक्‍सप्रेस में सुन सकते हैं विविध भारती पर । अगर समय कम है तो समय बारीकी से बता दें । साढ़े चार से पांच बजे तक सत्‍यनारायण जी से की गयी बातचीत प्रसारित होगी इस कार्यक्रम में । तो रविवार के अपने शेड्यूल में सत्‍यनारायण से की गयी इस बातचीत को सुनना भी शामिल कर लीजिए ।

ये रहीं सत्‍यनारायण के साथ की गयी छोटी सी अड्डेबाज़ी की तस्‍वीर --

                                            IMG_1679

2 comments:

अनूप शुक्ल said...

सुन्दर! पूरा इंटरव्वू सुना। बहुत अच्छा लगा। युनुस खान की प्य्रारी आवाज। सत्यनारायणजी के ईमानदार जबाब। शुक्रिया। मन करता है यायावर हो जायें।

yunus said...

शुक्रिया। हम तैयार हैं यायावरी के लिए ।
कब चला जाये ।

Post a Comment

आपकी टिप्पणी के लिये धन्यवाद।

अपनी राय दें