There was an error in this gadget

Sunday, January 25, 2009

आ जा आ जा -तीसरी मंझील फिल्म से सेक्सोफोन पर धून्

गुरूवार दि. 22 जानवारी, 2009 का रेर गानो का छायागीत जो युनूसजी ने प्रस्तूत किया था किसी कारण वस छूट गया, तो दूसरे दिन यानि दि 23 जानवारी, 2009 के दिन डी टी एच पर से वी सी आर पर वीएचएस केसेट पर रेकोर्डिंग सेट कर के घर बंध कर के सभी लोग बाहर गये । तो इस के साथ रेर गाने तो मिले, जो शाम 5.30 पर छाया गीत के पुन: प्रसारण पर मिले, पर साथमें शाम 6 बजे सुबह की त्रिवेणी का पुन: प्रसारण जो नेताजी सुभाषचन्द्र बोझ पर केन्द्रीत था, वह भी रेकोर्ड हुआ और करीब 5 से 6 मिनिट तक के बचे समयमें सेक्सोफोन पर फ़िल्म तीसरी मंझील के गीत आजा आजा की धून भी रेकोर्ड हुई जो मैंनें पहेली बार सुनी } इस गाने की और धूनें जिसमें श्री महेन्द्र भावसारकी मेन्डोलीन पर और स्व. सरदार हझारा सिंह की इलेक्ट्रीक (हवाईन) गिटार पर रेडियो लोन से उन पूराने दिनोंमें सुनाई पड़ती थी । बादमें इइलेक्ट्रीक ओरगन पर शम्मी रूबीन की (ट्रिब्यूट टू महम्मद रफ़ी) और इलेक्ट्रीक हवाईन ग़िटार पर ही काझी अनिरूद्ध की और नन्दू भेंडेके वाद्यवृंद पर (नोन स्टोप डिस्को डांसींग विथ शम्मी कपूर ) सुनाई पड़ी । तो इस धून के लिये उद्दघोषक सिर्फ़ फिल्म का नाम ही बोले (शायद नंद किशोर पांडेजी ), तो युनूसजी से अनुरोध है कि इस धून के वादक कलाकार का नाम बतायें । क्या यह भी श्री मनोहरी सिहजीकी बजाई धून है या महेन्द्र कबीर की ?

मोदी साहब भी अपनी प्रतिक्रिया देंगे तो खुशी होगी । यह धून वाया वी एच एस तबदील हुई है, इस लिये स्टीरीयो के बजाय मोनो सुनाई पड़ेगी ।




Subscribe Free for future posts  Add this player to my Page

पियुष महेता ।
नानपूरा, सुरत ।

No comments:

Post a Comment

आपकी टिप्पणी के लिये धन्यवाद।

अपनी राय दें