सबसे नए तीन पन्ने :

Tuesday, December 18, 2007

मेरे पास आओ मेरे दोस्तो, एक बातचीत सुनो......

मेरे संगीत प्रेमी सुधी पाठको,
नमस्कार।
आज मैं अपनी बात न कर एक बड़ी शख्शियत से एक महान शख्शियत की बातचीत आपके लिए प्रस्तुत कर रहा हूँ। हो सकता है ये बहुतों के लिए अनजान न हो पर ये भी हो सकता है कि कई इसे पहली बार सुन रहे हों। लेकिन रेडियो से बाबस्ता पाठक इसे तुरत पकड़ लेंगे।
आइये देर ना करते हुए चले एक संगीतमय सफर पर .......

4 comments:

rajendra said...

अगली कड़ी कब आएगी?

Anonymous said...

मुझे भी प्रतीक्षा है अगली कड़ी की।

Anonymous said...

मुझे भी प्रतीक्षा है अगली कड़ी की।

अन्नपूर्णा

Lavanyam - Antarman said...

बेहतरीन प्रस्तुति - सुनकर बहुत प्रसन्नता हुई --

इसे सुनवाने का शुक्रिया अजित जी ...

Post a Comment

आपकी टिप्पणी के लिये धन्यवाद।

अपनी राय दें