सबसे नए तीन पन्ने :

Thursday, June 19, 2008

श्री अमीन सायानी साहब की प्रस्तूती : कोलगेट संगीत सितारोंकी मेहफी़ल

आदरणिय पाठकगण,

कल श्री अमीन सायानी साहबसे आकाशवाणी के कुछ: प्रायमरी और कुछ: स्थानिय विविध केन्द्रों से शुरू हुए उनके कार्यक्रम कोलगेट संगीत सितारों की मेहफी़ल के बारेमें सत्तावार जानकारी प्रप्त हुई । यह मेईल नोन युनिकोड आकृति देव फोन्ट्समें होते हुए पढ़ पाना असंभव था । इस लिये मेरी तकलीफ़ के बारेमें मेरे उनको सुचीत करने पर उनके बेटे श्री राजीलजीने उन फोन्ट्स का झिप वर्झन भेजा । तब जो सुचना हिन्दीमें माईक्रो सोफ्ट वर्ड्झमें पढी उसको जेपीजी में परिवर्तीत करके आपके लिये प्रस्तूत करने की कोशिश की है, जिससे संबंधीत श्रोता अपने अपने संबंधित केन्दों से अपने अपने समय पर यह कार्यक्रम श्रंखला सुन शके । एक बात और कहनी है, की यह श्रंखला पहेले आकाशवाणी के करीब ४० केन्दो से प्रसारित होनी तह थी । पर आकाशवाणी द्वारा प्रायोजित कार्यक्रमों के प्रस्तूती दरों में तगडी वृद्धि किये जाने पर इस श्रंखला के प्रायोजकोने अपना बजेट बढाने के बजाय उसको ४० की जगह करीब १३ केन्दों तक सिमीत कर दिया ।
तो पढी़ये श्री अमीन सायानी साहब का संदेश ।


पियुष महेता ।
सुरत ।

5 comments:

berto said...

Having fun reading of your blog.


loansrestructuring

Harshad Jangla said...

Piyushbhai
What about we people like staying abroad? How can we listen to these programs?

-Harshad Jangla
Atlanta, USA

annapurna said...

खेद है कि इसमें हैदराबाद शामिल नहीं है।

mamta said...

और गोवा वाले कैसे सुने।

PIYUSH MEHTA-SURAT said...

दोस्तों हमारा सुरत वासीयों का भी यही हाल है ।और इसके लिये आकाशवाणी महा निर्देषालय और भारत सरकारका सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय कारणभूत है ।
पियुष महेता

Post a Comment

आपकी टिप्पणी के लिये धन्यवाद।

अपनी राय दें