सबसे नए तीन पन्ने :

Wednesday, July 16, 2008

रेडियो सिलोन के भूतपूर्व उद्धघोष श्री रिपुसूदन कूमार ऐलावादीजीसे साक्षात्कार

मेरी मुम्बई यात्रा दौरान दि. २८-०२-२००८ के दिन पारसी जनरल अस्पतालमें स्व. केरसी मिस्त्री से अन्तीम मुलाकात की और दि. २९-०२-२००८ के दिन श्री गोपाल शर्माजी द्वारा परिचयमें आये रेडियो श्री लंका के भूतपूर्व उद्दघोषक श्री रिपूसूदन कूमार ऐलावादीजी से समय ले कर उनके यहाँ दो पहर १२-३० पर पहोँचा तब वे बहोत उष्मा से मेरा स्वागत किया । कुछः इधर उधर की बात कर के मैनें उनसे मेरी उनके साथ हुई बात चीत को अपने केमेरे में कैदै करने की बात कही तो वे सहमत हो गये । उस समय उनके धर पर हम दोनों के सिवा तीसरा कोोई नहीं था । इस लिये मैनें एक बिन कुशल विडीयो ग्राफर और इन्टर्व्यूअर की दो जिम्मेवारी निभाई । इस लिये मोनिटरिंग के कारण मेरे सर का उपला हिस्सा दृष्यांकनमें दिखता नहीं है और शुरूआतमें प्रकाश थोडी़ कम है । एक और बात, कि फोर्मेट परिवर्तनमें भी गुणवत्ता नुकसान थोडा़ होता है ।
तो देखि़ये दो हिस्सोमें
भाग 1

भाग 2



पियुष महेता
सुरत

2 comments:

डॉ. अजीत कुमार said...

पियूष जी , मुझ जैसे और भी ढेर सारे श्रोता आपके शुक्रगुजार हैं कि आपने जिन अनुभवों को जिया है उसे हमारे साथ बाँट रहे हैं. अनेकों महान उदघोषकों के साथ आपकी यादें हमारे बीच पहुँचती है तो लगता है कि हम भी उन्हें उतने ही करीब से जान रहे हैं.
रिपुसूदन जी से आपकी बातचीत की रिकॉर्डिंग इसी सिलसिले को आगे बढ़ाती है. हालांकि मैंने उन्हें अपने कानो कभी नहीं सुना पर आज उन्हें सुनकर वो कमी पूरी हो गयी.
इस सारी रिकॉर्डिंग के लिए हम आपके शुक्रगुजार हैं.

Harshad Jangla said...

Piyushbhai

Thank you very much for sharing this wonderful interview recording. Both VDOs were quite audible and good quality.
Rgds.
-Harshad Jangla
Atlanta, USA

Post a Comment

आपकी टिप्पणी के लिये धन्यवाद।

Post a Comment

अपनी राय दें